जीव विज्ञान – 4 जीवधारियों का वर्गीकरण – 1

विद्याभारती E पाठशाला
जीव विज्ञान – 4
जीवधारियों का वर्गीकरण – 1
.......................
जीव जगत के जीवों एवं पादपों को उनके गुणधर्म(Characteristics)और विशेषताओं (Specificity) के आधार पर अलग-अलग श्रेणियों में सुव्यवस्थित ढंग से वर्गीकृत करने को वर्गिकी(Taxonomy) या वर्गीकरण विज्ञान(Systematics) कहते हैं।
वर्गिकी का कार्य आकारिकी, आकृतिविज्ञान (morphology) क्रियाविज्ञान (physiology), परिस्थितिकी (ecology) और आनुवंशिकी (genetics) पर आधारित है। अन्य वैज्ञानिक अनुशासनों की तरह यह भी अनेक प्रकार के ज्ञान, मत और प्रणालियों का सश्लेषण है, जिसका प्रयोग वर्गीकरण के क्षेत्र में होता है।

No comments:

Post a comment