Lesson 19 श्री रुद्राष्टकम्

Lesson 19 श्री रुद्राष्टकम्
1- श्री रुद्राष्टकम्
श्री रुद्राष्टकम् (संस्कृत:श्री रुद्राष्टकम्) स्तोत्र महाज्ञानी लंकेश रावण या दशानन द्वारा भगवान् शिव की स्तुति हेतु रचित एवं प्रथम गायित है। इसका उल्लेख श्री रामचरितमानस के उत्तर कांड में आता है। यह जगती छंद में लिखा गया है |

श्री रुद्राष्टकम्
शिव को समर्पित यह स्तोत्र तुलसीदास की रामचरितमानस से लिया गया है।
॥ अथ रुद्राष्टकम् ॥
नमामीशमीशान निर्वाणरूपम्।
विभुम् व्यापकम् ब्रह्मवेदस्वरूपम्।

Pdf देखें ..........
Lesson 19 श्री रुद्राष्टकम्
2- बोधकथा- संगठन में शक्ति है


No comments:

Post a comment