Lesson 18 वर्गमूल और घनमूल

Lesson 18 वर्गमूल और घनमूल
Lesson 18 -
1. वर्गमूल और घनमूल

वर्गमूल
गणित में किसी संख्या x का वर्गमूल  वह संख्या (r)होती है जिसका वर्ग करने पर x प्राप्त होता है; अर्थात्यदि r2 = x हो तो r को x का वर्गमूल कहते हैं।

उदाहरण-
१६ का वर्गमूल ४ है क्योंकि ४२ = १६
(क२ + ख२ + २ क ख) का वर्गमूल (क+ख) है क्योंकि(क+ख)२ = (क२ + ख२ + २ क ख)

वर्गमूल निकालने की विधियाँ
वर्गमूल निकालने की बहुत सी विधियाँ हैं। वर्गमूलनिकालने की एक प्रचलित विधि निम्नलिखितसर्वसमिका पर आधारित है-

(क + ख)2 = क2 + 2×(क×ख) + ख2

इतिहास
भारतीय गणितज्ञों की विधियाँ

•             आर्यभटीय में वर्गमूल निकालने की विधि दीगई है जो पूर्णवर्ग संख्याओं के लिए है।

•             पाटीगणित (श्रीधराचार्य) में एक दूसरी विधिदी गई है।

•             बख्शाली पाण्डुलिपि में वर्गमूल निकालने कीएक विधि दी गई है।

•             ३०० ईसापूर्व रचित जैन ग्रन्थजम्ब्द्वीपप्रज्ञप्ति में वर्गमूल निकालने की विधि दी गईहै। यही विधि जीवहिगम-सूत्र (२००ई),अनुयोगद्वारसूत्र (० ई) तथा त्रिलोकसार (० ई) में भी मिलता है।

Lesson 18 वर्गमूल और घनमूल
गणित शिक्षण-18
वैदिक गणित सवाल 8 




No comments:

Post a comment